वो भी क्या दिन थे यार

वो भी क्या दिन थे यार

वो भी क्या दिन थे यार…दिन में तारे गिनते थे,हो जाए चांद का दीदार;सोया भी इसी बहाने सेकरते थे की ख्वाबों मेंही सही मिलेगा राज कुमार !कहीं तो नजर आएगा, यहसोच बिंदी ,काजल, खनकतीचूड़ियों से … Read more

लेखनी कलम

लेखनी/कलम

मैं बांवरी–कलम की दीवानी ;नई सोच की जननी,नित नए शब्द पिरो,रचे नई कहानी ।कलम ही अदब, कलमही संभाले लाजनिरंतर कलम ने हीबदला समाज…कलम से हीस्वतंत्रता का आगाज़ !!चूम लेती है तरसती आंखों कोबन किसी अपने … Read more

आज़ादी

निस्वार्थ, निडर ,नाशिखन की कोई लकीरबांधे चोला केसरी रंग,तज तन– मन– धन …घरों से निकल लियाहर कोई बन फकीर ।। छल्ली कर गई सीनाफौलादो का –सोने की चिड़िया की पीर,देख बेड़ियों मेंमिट्टी ऐ वतन को … Read more

ऐसी होती है यह बेटियां

ऐसी होती है यह बेटियां / What Are Daughters Made Up Of

ऐसी होती है यह बेटियां / What Are Daughters Made Up Of घर की रौनक होती है यह बेटियां मां की परछाई और पिता का गुरुर होती है यह बेटियां उसके हसने से हंस देता … Read more

zindagi ka sabak ज़िन्दगी का सबक

Zindagi Ka Sabak | ज़िन्दगी का सबक

Zindagi Ka Sabak | ज़िन्दगी का सबक सीखा है ज़िन्दगी का सबक कुछ इस तरह, अपनों ने दिए जख्म और मलहम गैर लगा रहे हैं, ता-उम्र के वादे करके दो पल साथ बैठने की गुजारिश … Read more

ek dost hai bhoola bhataka sa एक दोस्त है भूला भटका सा

ek dost hai bhoola bhataka sa | एक दोस्त है भूला भटका सा

ek dost hai bhoola bhataka sa | एक दोस्त है भूला भटका सा एक दोस्त है भूला भटका सा, एक दोस्त है प्यारा प्यारा सा…. खो गई कहीं उसकी हंसी, क्या कोई ढूंढेगा कहीं…? शायद … Read more

अतिथि Post Kumar Harsh, बोतल भरके सपने

अतिथि Post: Kumar Harsh, बोतल भरके सपने

अतिथि Post: Kumar Harsh, बोतल भरके सपने तराज़ू मैं तोले थे आज सोने के कुछ सिक्के उसने, आसमान सिर पे था, पैर ज़मीन पर मेरे, घर आया एक नन्हा सा सपना था, क़ैद कर लिया … Read more

सजदे किये इस दिल ने, इबादत की तेरी

सजदे किये इस दिल ने, इबादत की तेरी….

  सजदे किये इस दिल ने, इबादत की तेरी…. आज पता चला के कमबख्त हमारे सीने में भी एक दिल है, वरना लोगों ने तो यकीन ही दिला दिया था के हम संगदिल हैं, हम … Read more