एक सवाल

एक सवाल

एक सवाल

उन्हें मस्रूफ़िअत से फुरसत नहीं
हमें इंतज़ार की आदत सही
गुज़र गया आज का दिन भी रोज़ की तरह
ना उनको फुर्सत मिली
ना ख़याल आया

*

बेइंतहा उन्हें चाहने की बेबसी मेरी
कुछ किस्मत बुरी,
तो कुछ वक्त ही बुरा सा है…
याद करते नहीं, तो याद आते ही क्यूँ हो
ख्यालों में आ-आ के सताते क्यों हो?

*

हमने जब चुप्पी साधी
तब इलज़ाम हमारे सर पर था
कभी संगदिल,
तो कभी पत्थर दिल कहलाये गए|
कभी कभी तो एक सवाल सा मेरे ज़हन में उठता है…

*

क्या अस्तित्व है आज मेरा उनकी ज़िन्दगी में?
क्या सिर्फ फुरसत मिलने पर ही याद आती हूँ?
इस जुदाई में क्या उस ने पा लिया होगा?

क्या फर्क पड़ता है…
मेरे होने या ना होने से?

—–XxXxX—–

ek savaal

unhen masroofiat se phurasat nahin
hamen intazaar kee aadat sahee
guzar gaya aaj ka din bhee roz kee tarah
na unako phursat milee
na khayaal aaya

*

beintaha unhen chaahane kee bebasee meree
kuchh kismat buree,
to kuchh vakt hee bura sa hai…
yaad karate nahin, to yaad aate hee kyoon ho
khyaalon mein aa-aa ke sataate kyon ho?

*

hamane jab chuppee saadhee
tab ilazaam hamaare sar par tha
kabhee sangadil,
to kabhee patthar dil kahalaaye gae|
kabhee kabhee to ek savaal sa mere zahan mein uthata hai…

*

kya astitv hai aaj mera unakee zindagee mein?
kya sirph phurasat milane par hee yaad aatee hoon?
is judaee mein kya us ne pa liya hoga?
kya phark padata hai…
mere hone ya na hone se?

You May Also Like

About the Author: Ranjeeta2018

कवितायेँ लिखना और पढना रंजीता का शौक ही नहीं पर जुनून भी है| उनकी हर कविता की प्रेरणा उन्हें ज़िन्दगी के अलग अलग रंगों से मिलती है| "मन की आरज़ू" उनकी कुछ कविताओं को प्रकाशित करने की पहली कोशिश थी , जो वह 1985 से आज तक लिखी गई है। इसके बाद तो मानो एक कतार सी लग गयी है किताबों की... एक बेटी, एक माँ, एक फौजी पत्नी, एक ब्लॉगर, एक ग्राफिक डिजाइनर, एक अध्यापिका और एक लेखिका के रूप में रंजित नाथ घई का जीवन एक पूर्ण चक्र आ गया है। "मेरी किस्मत ने मुझे सब कुछ दिया है और ज़िन्दगी ने बहुत कुछ सिखाया है| आज अपने अतीत में झांकती हूँ तो मुझे कोई अफसोस नहीं होता है क्योंकि मैं अपने जीवन के हर पल को अपने जुनून, अपने नियमों और अपनी शर्तों पर जिया है। "

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: