कोई किसी का नहीं | मन को इतना सुंदर बनालो

जहाँ उम्मीद नहीं होती ……..वहाँ दीदार होता है….
इश्क़ का मर्ज़ पाला है…..जो तुझसे हर बार होता है
तुझे पा लें तो भी सकूँ हासिल नहीं होगा
तेरा मिलना मेरे दिल को हर पल दरकार होता है….,
— Seema Bhargave


जहां उम्मीद नहीं होती,
अगर वहां समभावों की कोई कली खिल जाए,
जिंदगी का गुलशन फिर खुशियों से महक जाए,
ना उम्मीदी के सहारे क्यूं जीना यारो,
उम्मीद के सहारे तो खुदा का एहसास ,हर श्वास मिल जाए….
— Mamta Grover


अक्सर जहां उम्मीद ना हो वहां से उम्मीद की
लौ जगमगाती है जो अब तक पराए लगते थे
वहां से अपनेपन की खुशबू आती है
— Ritu Jain


You May Also Like To Read 

Leave a Comment

Don`t copy text!