ज़िंदगी भर काम आया | हमारी प्यारी हिन्दी भाषा | अपनी राह पर ख़ुद चलना है

गुरु का आदर, बड़ो को सम्मान
छोटो को प्यार, जरूरतमन्दों की मदद ।
मुसिबतो का डटकर मुकाबला करना ,
घर परिवार कोई भी हो उसे अपना बनाना
जिंदगी भर काम आया यह सीख ।
आज मेरी जिंदगी खुशियों से हरी भरी हो रही।
– Mridula Singh


हमारे शब्दों को खूबसूरत बनाती
विश्व में हमारी पहचान बनाती
एकता के सूत्र में पिरोती
हमारी प्यारी हिन्दी भाषा।
– Anita Gupta


हमारी प्यारी हिंदी भाषा
हमको इस पर नाज़ है।
देववाणी की सुता लाडली
हिन्द की यह आवाज़ है।
अपमानित न होने देंगे
हिंदी से हम सबकी शान।
सम्मान कभी भी क्षीण न होगा
यह है भारत का अभिमान।
– Ruchi Asija


वर्णों अक्षरो से सजी हमारी हिन्दी,
छंद अलंकारों से शोभित प्यारी हिन्दी,
सब भाषाओँ की जननी सृजन दात्री,
विश्व पटल पर विराजित न्यारी हिन्दी। ।
– Rajmati Pokhran Surana


तारों से टिमटिमाते वर्ण
आकाशगंगा सा पिरोया अक्षर
चाँद सा अर्ध बिंदु
सौरमंडल सी घूमती मात्राएं
उल्कापिंड सा विराम
गुरुत्वाकर्षण सा शब्द
ब्रह्माण्ड सा सुसज्जित अंलकार
बादलों सी नीली स्याही
बूंदा बांदी करती शब्दावली
रिमझिम से वाक्यांश
वर्षा करते वाक्य
भीगोते हमारे पन्नों को
धरा की भावनाओं पर
एक अप्सरा उतरती
स्वयं को राष्ट्र की आत्मा
संबोधित कर
हम लिखना चाहते हैं
उस आत्मा को
सभी पटल पर
डायरी के हर पन्नें पर
कविताओं में, प्रसंगों में
किस्सों में ,क्षणिकाओं में
हस्ताक्षर में ,स्वाक्षर में
सुनना चाहते हैं
उस आत्मा को
राष्ट्रगान में, व्याख्यान में
संगीत में, परदेस में
महसूस करना चाहते हैं
उस आत्मा के
अस्तित्व को,पहचान को
क्योंकि जन्मसिद्ध
वसीयत है हिंद की हिंदी
हमारी प्यारी भाषा हिंदी ।
– Anshita Dubey


हमारी प्यारी हिंदी भाषा!
भोर की किरणों जैसी नवल आशा,
संस्कृत मां के अस्तित्व की परिभाषा।
भारत की संस्कृति की पहचान है,
हिंदी भाषा भारत का गौरव व सम्मान है।
– Kavita Singh

Leave a Comment