ज़िंदगी भर काम आया | हमारी प्यारी हिन्दी भाषा | अपनी राह पर ख़ुद चलना है

फूलों की तरह हमेशा मुस्कुराती रहो
ऐसे ही उन्नति के शिखर पर
आगे बढ़ती रहो
मेरी शुभकामनाये सदा
तुम्हारे साथ हैं।
– Anita Gupta


सिन्धु सम विस्तीर्ण होना,न बिंदु बनके तुमको ढलना है।
मुश्किलें आए तो आएँ,न डर के तुमको पीछे मुड़ना है।
राह में यदि शूल आएँ,फूल सम तुमको करना है।
क्योंकि तुमको अपनी राह पर ख़ुद चलना है।
– Ruchi Asija


अपनी राह पर ख़ुद चलना है,
अपनी मंज़िल ख़ुद चुनना है।
तू लड़खड़ाना नहीं,घबरा के बैठ जाना नहीं,
धूप हो या छाँव हो,
हार मान जाना नहीं।
– Kavita Singh


अपनी राह पर खुद चलना है
अपनी मिसाल खुद बनना है।
आये कितनी भी मुश्किलें मन
एकाग्र कर खुद ही लक्ष्य होगा भेदना ।
रास्तों से पूछकर मंजिल का पता
अपनी राह खुद बनाना है ‘ ।
अपनी पहचान खुद बनना है ।
– Mridula Singh


अपने पथ प्रदर्शक हैं हम……
अपना लक्ष्य स्वयं चुनना हैं…….
साथ की कोई परवाह नहीं जब अपनी राह पर खुद चलना है …..
– Seema Bhargave


जो अकेले चलते हैं
उनके पीछे काफिले होते हैं
कदम मिलाकर आगे बढ़ना है
अपनी राह पर खुद चलना है।
– Anita Gupta

Leave a Comment