तारों भरी रात है | जिसका हृदय विशाल हो | अंदर का सन्नाटा बोले | खुद को अपनाना सीखो

तारों भरी रात है | जिसका हृदय विशाल हो | अंदर का सन्नाटा बोले | खुद को अपनाना सीखो

रात रहती अंधेरी
तारे भी अनगिनत
मनदीप जले बस
निरंतर अनवरत
— Sarvesh Kumar Gupta


आओ न! तुम्हारा ही है इंतजार
लबों पर मुस्कान और दिल में जज़्बात तेरेहाथों में हो बस मेरा हाथ
कहनी है मुझे तुमसे कुछ अपनी बीती बात
गुजारूं मैं अपना वक्त अब तेरे ही साथ
खुले अंबर के नीचे हम दोनों हों साथ साथ
तुम्हें याद है,
आज फिर वही है तारों वाली रात
हमारा साथ होना ही होगी हमारी सबसे बड़ी सौगात !!
— Pushpa Pandey


तारों भरी रात है | जिसका हृदय विशाल हो | अंदर का सन्नाटा बोले | खुद को अपनाना सीखो
तारों भरी रात है | जिसका हृदय विशाल हो | अंदर का सन्नाटा बोले | खुद को अपनाना सीखो

तारो भरी रात है,
साजन का साथ है,
मस्ती है प्यार है,
जीवन संगान है।।
— Rajmati Pokharna Surana


तारों भरी रात सुहाना सफर और हो तेरा साथ
तारों की रोशनी में कल कल करती नदियां,
दिखती हैं मानो सोने की हों लड़ियां
फर्क नहीं पड़ता जो फिर न कोई पास हो।
— Rani Nidhi Pradhan


तारों भरी रात है
शबनमी बहार है
मुझे तेरा इन्तजार है
जाने कब आओगे प्रियवर
ताकि चाँद तारों से कह दूँ
देख मेरा चाँद आया है
तुमसे ज्यादा तेज मेरा चाँद चमचमाया है।
— Manju Lata


शुक्रिया तेरा ए तन्हाई
तेरी वजह से नींद न आई,
जिससे हम जान पाए ये बात हैं
कि आज तारों भरी खूबसूरत रात है।
कुदरत ने साथ देने के लिए भेजी ये अमूल्य सौगात है।
— Mamta Grover

Leave a Comment