क्या है कविता

क्या है कविता

क्या है कविता ख्यालों में बुनी जाएजज्बातों में कही जाएवो है कवितानम आंखों में मुस्कुराएखामोशी में गुनगुनाएवो है कविता है इबादत कभीगुरबाणी है कविताराम की कथनीकबीर के दोहे में कविता मां की लोरीउसकी डांट में … Read more

कविता जन्मती है, kavita janmatee hai

कविता जन्मती है

कविता जन्मती है ह्रदय की धड़कनों में धड़कतीशब्द बन अधरों पर धधकतीकलम ओर दवात जब कागज पर उकेरतीकवि की कल्पना जब वादियों में उड़ान भरतीसमुद्री चक्रवातों से निकल कर भावनायेकविता का रूप धरतीसुख दुख हो … Read more

रगों का त्योहार आया

रगों का त्योहार आया

रगों का त्योहार आया रगों का त्योहार आयासंग रंगों की फुहार लाया।रंग बिरंगी सतरंगी उम्मीदोंकी सौगात है लाया । लाल, गुलाबी, पीला,नीलाहर रंग में एक पैगाम है लाया ।रंग न जाने जात-पातन जाने यह ऊँच-नीच। … Read more

उल्लास

उल्लास

उल्लास उल्लास, उत्साह,प्रेम शुभ भावनाओं से ओत-प्रोतजन-मन सुन्दर सजीले रंगों सेसबके जीवन मेंअपार खुशियों की सौगात लिएबस हिलमिल कर दे रहे हैंप्यार का अनुपम संदेश। -मधु खरे ullaas, utsaah,prem shubh bhaavanaon se ot-protjan-man sundar sajeele … Read more

होली - रंगों का आया त्योहार सीमा शर्मा दुबे

होली – रंगों का आया त्योहार

होली – रंगों का आया त्योहार रंगों का आया त्योहारअग्नि में जली नफरत की आगओर मचने लगी हुरियारों कीहुरदंगलाल पीला हरा नीला ओर केसरिया रंगरंग गए राधा श्याम रास रचा सखियों संगभर पिचकारी ऐसी मारी … Read more

आया मौसम होली का

आया मौसम होली का

आया मौसम होली का छाई है हर ओर हर्षोल्लासकि आया मौसम होली का।नीले पीले हरे गुलाबीउड़े रे गुलाल,कि आया मौसम होली का ।प्रेम सौहार्द का पर्व है होली ,तन भी रंग लो मन भी रंग … Read more

वो भी क्या दिन थे यार

वो भी क्या दिन थे यार

वो भी क्या दिन थे यार…दिन में तारे गिनते थे,हो जाए चांद का दीदार;सोया भी इसी बहाने सेकरते थे की ख्वाबों मेंही सही मिलेगा राज कुमार !कहीं तो नजर आएगा, यहसोच बिंदी ,काजल, खनकतीचूड़ियों से … Read more

लेखनी कलम

लेखनी/कलम

मैं बांवरी–कलम की दीवानी ;नई सोच की जननी,नित नए शब्द पिरो,रचे नई कहानी ।कलम ही अदब, कलमही संभाले लाजनिरंतर कलम ने हीबदला समाज…कलम से हीस्वतंत्रता का आगाज़ !!चूम लेती है तरसती आंखों कोबन किसी अपने … Read more