जीवन के परदे पर

जीवन के परदे पर

जीवन के परदे पर जीवन के परदे पर हम तुम खेल रहे हैं खेल शतरंज हो या चोर सिपाही सही गलत के फैसले का होगा सुन्दर मेल हर कदम पर लड़ना होगा हलकी सी चूक परकभ शय होगी तो कभी मौत कभी वज़ीर बन तो कभी मोहरा बन बंद होंठों से तिरछी हंसी हँसते चलेंगे … Read more जीवन के परदे पर

khel lena tum holi aaj mere bagair खेल लेना तुम होली आज मेरे बगैर

happy holi खेल लेना तुम होली आज मेरे बगैर

khel lena tum holi aaj mere bagair खेल लेना तुम होली आज मेरे बगैर रंग रौशनी है रंग खुशबू है रंग मौसकी है रंग एक एहसास है रंग ही तो इस फीके से जीवन में लाती एक उन्मुक्त उमंग है पर सुनो, खेल लेना तुम होली आज मेरे बगैर आई रे आई होली आई रंगों … Read more khel lena tum holi aaj mere bagair खेल लेना तुम होली आज मेरे बगैर

Don`t copy text!