अतिथि Post: Naresh Thadani, मोहब्बत ख़त्म हुई

अतिथि Post: Naresh Thadani, मोहब्बत ख़त्म हुई

अतिथि Post: Naresh Thadani, मोहब्बत ख़त्म हुई मोहब्बत ख़त्म हुई मोहब्बत ख़त्म हुई। प्यार का नज़राना अभी बाक़ी है यार का फ़साना अभी बाक़ी है। मोहब्बत ख़त्म हुई दिल का तड़पना अभी बाक़ी है रूह को जलाना अभी…

Advertisement

loading...